कहाँ से लिया गया है INS VIKRANT की ये लाइन को

हम आपको बता दें के विक्रांत का मतलब होता है युद्ध लड़ने वाला एक योद्धा | वीर | और जो जगत के विजेताओं पर अपनीओ विजय पा सके वो होता है विक्रांत |

२ सितम्बर शुक्र के दिन नरेंद्र मोदी जी ने इंडियन नेवी को पहला मेक इन इंडिया विमान वाहक विक्रांत जहाज पानी मैं उतार दिया है | विक्रांत के नाम की अगर हम बात करें तो मदालसा विदुषी के एक पुत्र का नाम भी विक्रांत था |

यहां देखें INS VIKRANT का अनावरण

अगर हम इसके स्लोगन की बात करें तो वो भी बहुत ही सोच समझ कर रखा है इंडियन गवर्नमेंट ने विक्रांत का आदर्श वाक्य है जयेम सं युधि स्पृधः मतलब मतलब हम रणभूमि मैं शत्रुओ पर पूरी तरह विजय पाएं |

इस ध्येय वाक्य को ऋग्वेद से उठाया गया है इस वाकया मैं ऋषि मधुछन्दस जी भगवन इंद्रा से विजय दिलाने की बात करते हैं |

वो बोलते हैं के हे इंद्र अगर हमको आपसे रक्षा मिल जाये तो हम वज्रा और शास्त्र का उपयोग कर सकते हैं जिससे की हम युद्ध मैं शत्रुओ पर पूरी तरह से विजय प्राप्त कर सकते हैं

अब भारत अपनी कब्जे की मानशिकता से बाहर आ गया है | जिसमे भारत ने कब्जे की मानशिकता बनाके रखी थी

नौसेना ने अपने जिस नए प्रतीक का अनावरण किया है, उसमें भारतीय नौसेना के पितामह माने जाने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज की राजमुद्रा के अष्टकोणीय डिज़ाइन को भी जगह दी गई है। ये ८ कोण नौसेना की ८ दिशाओं में सजगता, सक्रियता दिखाते हैं।

छत्रपति शिवाजी महाराज ने जिस नौसेना का गठन किया था वह अपने समय की अद्वितीय नौसेना थी। इसी नौसेना के कारण मराठों के दुश्मन उनके अहम ठिकानों पर कब्ज़ा नहीं कर पाए।

यहां देखें INS VIKRANT की पावर

आपको क्या लगता है INS VIKRANT हमरी नेवी के लिए कैसा रहेगा

Leave a Comment