सोना गंदगी में भी हो तो उसे ले लेना चाहिए

मनुष्य को हर परिस्थिति के लिए स्वयं को तैयार रखना चाहिए.

जो स्वयं को समय आने पर नहीं बदलते हैं वे कष्ट और परेशानी भोगते हैं

आज की चाणक्य नीति बहुत ही विशेष है

आज की चाणक्य नीति बहुत ही विशेष है 

मनुष्य को जहर से भी अमृत निकाल लेना चाहिए.

इसी प्रकार से यदि सोना गंदगी में भी पड़ा हो तो उसे उठा लेना चाहिए

सके साथ ही यदि किसी कमजोर कुल मे जन्म लेने वाले से भी सर्वोत्तम ज्ञान मिल सकता है

उसे प्राप्त करने के लिए प्रयास करना चाहिए. क्योंकि इसमें कोई दोष नहीं है

चाणक्य कहते हैं कि यदि कोई बदनाम घर की कन्या भी महान गुणों से युक्त है

और आपको कोई सीख देती है तो इसे भी अपनाने में संकोच नहीं करना चाहिए