गुरु चाणक्य ने समझाया के छात्र जीवन को सफल बनाना है तो कामवाशना से बहुत दूर रहना होगा |

उन्होने कहा है के अगर सफल होना है तो कभी किसी भी चीज का लोभ न करें |

अगर आप छात्र हैं तो आपको कभी भी स्वाद के पीछे नहीं भागना चाहिए |

एक विद्यार्थी को हमेसा सामान्य जीवन जीना चाहिए ये श्रृंगार विधार्थी के जीवन के लिए नहीं बना है |

एक विद्यार्थी को हमेशा हसी मज़ाक से परे रहना चाहिए कभी भी ऐसी संगत मैं न पड़ें |

ज्यादा नींद लेना यानि सोना वद्यार्थी जीवन के लिए बहुत ही हानि करकक हो सकता है |

गुरु चाणक्य बोलते हैं के एक विद्यार्थी की ज्यादा सेवा मैं नहीं पड़ना चाहिए | इससे ध्यांन भंग होता है |

उन्होने कहा है के अगर सफल होना है तो कभी किसी भी चीज का लोभ न करें |