गुरु चाणक्य ने बताया कि एक 'मुर्गे से एक विद्यार्थी' को क्या सीखना चाहिए

गुरु चाणक्य ने हमेसा ही विधार्थी जीवन को सफल बनाने के लिए बहुत अच्छी अच्छी बातें बताई हैं

जिनमे से कुछ बातें ऐसी हैं जो की एक विद्यार्थी को मुर्गे से सीखनी चाहिए |

गुरु चाणक्य के अनुसार एक विधार्थी को मुर्गे की तरह सूर्य उदय से पहले उठना चाहिए |

जैसे मुर्गा किसी भी मुक़बले मैं पीछे नहीं हटता वैसे ही जीवन के मुकाबले मैं आपको पीछे नहीं हटना |

हमेसा जो कुछ भी आपके पास है उसे अपने भाई मित्रों के साथ बांटकर खाना चाहिए |

जैसे मुर्गा मेहनत करके तिनके तिनके से अपना भोजन जुटाता है ठीक उसी तरह

आपको अपने जीवन मै धीरे धीरे करके अपने लक्ष्य के भोजन को प्राप्त करना है |

Disclaimer