अमर प्रेम की निशानी है मांडू का किला

राजा बाज बहादुर की रानी का नाम तो रूपमती था ही पर साथ ही वो वास्तव में रूपमती जैसी प्रतीत होती थीं।

मध्यप्रदेश के मांडू की एक अनोखी प्रेम कहानी आज भी दुनियाभर में मशहूर हैं।

राजा बाज बहादुर और रानी रूपमती के प्यार के साक्षी मांडू में 3500 फीट की ऊंचाई पर बना रानी रुपमती का किला है।

मांडू का किला आगे चलकर प्रेम का प्रतीक बना। आज यह मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में गिना जाता है।

 मांडू की हसीन वादियों में बहुत से राज छिपे होते हैं। ऐसी ही एक जगह हसीन वादियों से घिरी हुई है जिसका नाम मांडू है। 

मांडू इंदौर से करीब 110 किमी दूर विंध्याचल की पहाडिय़ों में करीब 2000 फीट की ऊंचाई पर मध्य प्रदेश के धार जिले में बसा हुआ है।

कहते हैं कि रानी रूपमती नर्मदा नदी को देखे बिना भोजन ग्रहण नहीं करती थीं।

खास है महल के 12 दरवाजे- मांडू जगह की खूबसूरती को देखने के लिए जो पहला दरवाजा पार करना पड़ता था उस दरवाजे को दिल्ली कहा जाता था।