नाग देवता को घर का रक्षक भी माना जाता है।  नाग देवता की पूजा करने से घर में सुख, शांति और समृद्धि भी आती है

सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें। स्नान के पश्चात घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।

इस पावन दिन शिवलिंग पर जल जरूर अर्पित करें।

नाग देवता का अभिषेक करें। नाग देवता को दूध का भोग लगाएं।

भगवान शंकर, माता पार्वती और भगवान गणेश को भी भोग लगाएं।

नाग देवता की आरती करें। अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी करें।

नाग पंचमी के दिन शिव योग शाम 06 बजकर 38 मिनट तक रहेगा। इसके बाद सिद्धि योग शुरू होगा।