हमें अंग्रेजों की तरह दिखने की कोई जरूरत नहीं है'- PM मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें ?

पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत देशवासियों को बाधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा की। पीएम मोदी ने कहा, ''मैं विश्व भर में फैले हुए भारत प्रेमियों को, भारत को आजादी के इस अमृत महोत्सव की बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

न सिर्फ हिंदुस्तान का हर कोना दुनिया के हर कोने में आज किसी न किसी रूप में भारतीयों के द्वारा या भारत के प्रति अपार प्रेम रखने वाला विश्व के हर कोने में ये हमारा तिरंगा आन-बान-शान के साथ लहरा रहा है।

हिंदुस्तान का कोई कोना, कोई समय ऐसा नहीं था, जब देशवासियों ने सैंकड़ों सालों तक गुलामी के खिलाफ जंग न लड़ी हो, जीवन न गवाया हो, परेशानिया न झेली हो, बलिदान न दिया हो

आज हम सब देशवासियों के लिए ऐसे हर महापुरुष को, हर त्यागी और बलिदानी को नमन करने का अवसर है.

हिंदुस्तान के हर कोने में उन सभी महापुरुषों को याद करने का प्रयास किया गया, जिनको किसी न किसी कारणवश इतिहास में जगह न मिली, या उनकों भुला दिया गया था।

आज देशवासियो ने खोज खोज कर ऐसे वीरों, महापुरुषों, बलिदानियों  को याद किया और नमन किया।

आज जब हम आजादी का अमृत महोत्सव को मना रहे हैं।  तो  पिछले 75 साल में देश के लिए जान देने वाले, देश की सुरक्षा करने वाले, देश के संकल्पों को पूरा करने वाले चाहे सेना के जवान हों,पुलिसकर्मी हों।

पीएम मोदी ने कहा कि हमें अंग्रेजों के जैसे दिखने की जरूरत नहीं है, गुलामी की मानसिकता से बाहर आने की जरूरत है। पीएम ने कहा कि जब हम अपनी धरती से जुड़ेंगे तभी तो ऊंचा उड़ेंगे।

और विश्व को समाधान देंगे. दुनिया आज भारत से प्रभावित हो रही है। हम वो लोग हैं जो प्रकृति के साथ रहना जानते हैं। ग्लोबल वार्मिंग की समस्या हल हमारे पास है।

संकल्प बड़ा था तो हम आजाद हो गए, संकल्प छोटा होता तो आज भी संघर्ष कर रहे होते. 75 साल में आज इन सबको और देश के कोटि-कोटि नागरिकों को

जिन्होंने 75 साल में अनेक कठिनाइयों के बीच भी देश को आगे बढ़ाने के लिए अपने से जो हो सका, वो करने का प्रयास किया है, उन्हें नमन करने का दिन है।