इस किरदार पर हिंदी सिनेमा में पहले भी फिल्में बन चुकी हैं

फिल्म ‘शमशेरा’ की कहानी का दूसरा केंद्र बिंदु दारोगा शुद्ध सिंह है।

फिल्म ‘शमशेरा’ एक लिहाज से देखा जाए सुल्ताना डाकू की कहानी की फिल्मी रूपांतरण है

ये कहानी है ‘करम से डकैत, धरम से आजाद’ का नारा गढ़ने वाले शमशेरा की

रणबीर कपूर ने अपनी हर फिल्म की तरह यहां भी अपने दोनों किरदारों में जान डालने की पूरी कोशिश की है

उनके पिता ऋषि कपूर ने उन्हें समझाया था कि धोती वाली फिल्मों से दूर ही रहना

फिल्म ने पहले दिन सिर्फ 10.30 करोड़ रुपये की कमाई की है